google-site-verification=YVHN2dtbiGoZ5Ooe2Ryl06rtke7l76iOlFsnK7NUB_U
UPI
Photo Source - Twitter

UPI: भारत की यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस सेवा (UPI) ऑफिशियल तौर पर पेरिस फ्रांस जैसे प्रतिष्ठ एफिल टावर पर भी उपलब्ध हो चुकी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एफिल टावर के लिए फ्रांस को बधाई दी है। उन्होंने सोशल मीडिया एक्स पर एक पोस्ट शेयर कर कहा कि यह कदम डिजिटल भुगतान को प्रोत्साहित करने और संबंधों को मजबूत करने के लिए एक अच्छा उदाहरण है।प्रधानमंत्री ने इस पर अपनी पोस्ट में लिखा कि यह देखकर मुझे बहुत अच्छा लगा। यह यूपीआई को वैश्वीकरण पर ले जाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम होगा।

UPI एक भारतीय डिजिटल भुगतान प्रणाली-

यह डिजिटल भुगतान को प्रोत्साहित करने और मजबूत संबंधों को बढ़ावा देने के लिए अद्भुत उदाहरण है। UPI एक भारतीय डिजिटल भुगतान प्रणाली है, जिसे 2016 में नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन आफ इंडिया द्वारा विकसित किया गया था। यह प्रणाली बहुत से बैंक शाखाओं को एक ही मोबाइल ऐप में इस्तेमाल करने की इजाजत देती है। एनपीसीआई के मुताबिक, एप्स द्वारा दी जाने वाली सेवा कई बैंकिंग सुविधाओं जैसे सीमलेस, फंड रूटिंग और मर्चेंट पेमेंट को एक ही प्लेटफार्म में मर्ज कर देती है।

एनपीसीआई इंटरनेशनल पेमेंट-

समाचार एजेंसी के मुताबिक, एनपीसीआई के एक बयान में कहा कि उनकी शाखा एनपीसीआई इंटरनेशनल पेमेंट में फ्रांसीसी ई-कॉमर्स और प्रॉक्सिमिटी पेमेंट्स कंपनी लारा के साथ समझौता किया है। इस साझेदारी में यह सुनिश्चित करने की मदद की गई है कि यूपीआई भुगतान तंत्र यूरोपीय देश में स्वीकार किया जाता है। जिसकी शुरुआत एफिल टावर से हुई है। एफिल टावर पर भारतीय पर्यटक व्यापारी के वेबसाइट पर उपलब्ध कर कोड को स्कैन कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें- Paytm के को-फाउंडर ने यूज़र्स को दिलाया भरोसा, कहा हमेशा चलता रहेगा..

फ्रांस में UPI भुगतान की अपेक्षा-

इसके अलावा भुगतान भी कर सकते हैं। एफिल टावर फ्रांस में UPI भुगतान की अपेक्षा करने वाला पहला व्यापारी है। यह जल्द ही पूरे फ्रांस, यूरोप में पर्यटन और खुदरा क्षेत्र के अन्य व्यापारियों तक विस्तारित हो जाएगा। बयान में भी कहा गया कि वर्तमान में भारतीय पर्यटक एफिल टावर पर आने वाले अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों के दूसरे बड़े समूह के रूप में है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 26 जनवरी को नई दिल्ली में गणतंत्र दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री अतिथि के रूप में फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रोन को न्योता दिया था।

ये भी पढ़ें- अब फ्री में नहीं चलेगा WhatsApp, कंपनी का अपडेट, जाने बचने का तरीका

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *