google-site-verification=YVHN2dtbiGoZ5Ooe2Ryl06rtke7l76iOlFsnK7NUB_U
Google Chrome
Photo Source - Google

Google Chrome में खतरनाक कमियों की वजह से सुरक्षा एजेंसी Cert-in ने अलर्ट जारी किया है। इन कमियों का फायदा उठा रहे हैं हैकर्स आपके कंप्यूटर को कंट्रोल कर सकते हैं। सरकारी एजेंसी ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि गूगल क्रोम के पुराने वर्जन की खतरनाक कमजोरी हैं। इन कमजोरी का फायदा उठाकर हैकर्स आपके कंप्यूटर को हैक कर सकते हैं और आपके प्राइवेट डाटा को एक्सेस कर सकते हैं। अगर आप भी अपने सिस्टम पर उपलब्ध डाटा को सेफ रखना चाहते हैं तो आप अपने क्रोम ब्राउज़र को अपडेट कर सकते हैं। आज हम आपको बताएंगे कि गूगल क्रोम ब्राउज़र के कौन से वर्जन के लिए खतरा है।

कंप्यूटर हैक-

यह अलर्ट गूगल क्रोम के ओएस वर्जन 11 4.057 35.35 0 से पहले वाले वर्जन में है। अगर आपका क्रोम और पुराना है तो आप उसे तुरंत अपडेट कर सकते हैं। इतना ही नहीं इन कमियों की वजह से हैकर्स किसी के भी कंप्यूटर को हैक कर गलत कोड चला सकते हैं और जरूरी चीजों तक भी पहुंच सकते हैं। सुरक्षा को तोड़ सकते हैं या फिर आपके कंप्यूटर में काम करने से रोका भी जा सकता है। अपने कंप्यूटर को हैक करने से बचाने के लिए सबसे जरूरी है कि आप अपना क्रोम ब्राउजर तुरंत अपडेट करें।

ब्राउज़र का वर्जन अपडेट-

आप अपने ब्राउज़र के वर्जन 114.057 35.350 को अपडेट कर लें। इससे बचने का दूसरा तरीका यह भी है कि आप अपने ब्राउज़र का इस्तेमाल ध्यान करें। सावधानी बरतें और आप किसी भी अनजान लिंक पर क्लिक न करें, अननोन सोर्स से लिंक ईमेल पर क्लिक न करें। ऐसा करने से आप स्कैमर्स का शिकार हो सकते हैं। इसके अलावा आप सुरक्षा का खास ध्यान रखें और आप एक अच्छा एंटीवायरस इस्तेमाल कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें- Unwanted Call and Messages: अनचाहे मैसेज, कॉल को ऐसे करें ब्लॉक

मालवेयर आपके सिस्टम-

सभी सॉफ्टवेयर अपडेट करें और पर फायरवॉल चालू रखें। इससे कोई मालवेयर आपके सिस्टम में प्रवेश नहीं करेगा। Cert-in 1 से 15 फरवरी तक साइबर स्वच्छता पखवाड़ा मना रहा है और इसका मकसद देश के लोगों को साइबर फ्रॉड से बचाना है और Cert-in ने साइबर स्वच्छता केंद्र लॉन्च किया है जो की डेस्कटॉप लैपटॉप और स्मार्टफोन के लिए इस कैबिनेट स्कैनिंग और क्लीनिंग टूल किट प्रदान करता है। यहां से आप अपने कंप्यूटर को मुफ्त में स्कैन और क्लीन करवा सकते हैं।

ये भी पढ़ें- भारत का UPI फ्रांस में हुआ लॉन्च, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी बधाई

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *