google-site-verification=YVHN2dtbiGoZ5Ooe2Ryl06rtke7l76iOlFsnK7NUB_U
Himachal Pradesh
Photo Source - Twitter

Himachal Pradesh के सोलन जिले में शुक्रवार को नालागढ़ के झाड़माजरी में एक अरोमा परफ्यूम फैक्ट्री में आग लग गई। मौके पर दमकल की गाड़ियां मौजूद हैं और आग पर काबू पाने की कोशिश की जा रही है। वहीं इस हादसे को लेकर हिमाचल प्रदेश के डीजीपी का कहना है कि यह एक परफ्यूम फैक्ट्री है और इस फैक्ट्री में केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है। केमिकल की वजह से आग ज्यादा फैल गई है और इस पर काबू पाने में मुश्किल हुई। उन्होंने कहा कि हमारी प्राथमिक्ता लोगों को बचाना, घायलों को अस्पताल पहुंचाना और बचाव कार्य को पूरा करना है। इन सब कामों के पूरा होने के बाद इस पर कार्यवाही का जाएगी।

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री-

वहीं इस घटना को लेकर हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री का कहना है कि, इस घटना में अब तक एक व्यक्ति के मौत की पुष्टि की गई है। इसके अलावा अभी 9 लोग लापता हैं। उनका कहना है कि इस घटना के पीछे जो भी ज़िम्मेदार है उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

31 लोगों के घायल होने की सूचना-

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, यह फैक्ट्री हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले के अंतर्गत नालागढ़ के झाड़माजरी के पास एनआर में मौजूद है। आग की खबर मिलते ही आग पर काबू पाने के लिए 5 दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंच गई। इस घटना में 31 लोगों के घायल होने की सूचना मिली है। राज्य के स्वास्थय मंत्री समेत अन्य अधिकारी भी मौके पर पहुंचे हैं।

ये भी पढ़ें- Gyanvapi में पूजा-पाठ पर मुस्लिम पक्ष के विरोध पर, कोर्ट का फैसला, कहा..

घायलों को अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती-

राजस्व विभाग और आपदा प्रबंधन के महा सचिव ओंकार का कहना है कि घायलों को अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया हैं। उनका कहना है कि NDRF की टीम मौके पर पहुंच चुकी है। जानकारी के मुताबिक जब अरोमा पर्फ्यूम फैक्ट्री में आग लगी उस समय उसमें करीब 60 लोग मौजूद थे।

कामगारों को आग बुझाने वाले यंत्रों की समझ नहीं?

क्योंकि यह एक परफ्यूम फैक्ट्री है इसलिए इसमे बहुत से ऐसे लिक्वीड मौजूद थे जो जल्दी आग पकड़ते हैं। इन लिक्वीड्स में एसिड बेंजाइल, इथेनॉल और एल्कोहोल शामिल हैं। इस घटना के पीछे आशंका जताई जा रही है कि शायद कंपनी में हल्की चिंगारी भड़की और तुरंत वहां पर रखे एसिड ने आग पकड़ ली। हालांकि वहां मौजूद लोगों को इतना समय नहीं मिला की वह आग को बुझा पाते। अब सवाल ये है कि क्या वहां के कामगारों को आग बुझाने वाले यंत्रों की समझ नहीं थी।

ये भी पढ़ें- Budget 2024: सरकार का बड़ा तोहफा, सस्ते हो सकते हैं महंगे स्मार्टफोन

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *