google-site-verification=YVHN2dtbiGoZ5Ooe2Ryl06rtke7l76iOlFsnK7NUB_U
Diabetes
Photo Source - Meta AI

Diabetes: आज के समय में डायबिटीज के मरीजों की संख्या बहुत ज्यादा बढ़ती जा रही थी। यह एक बीमारी बहुत सी बीमारियों का कारण बनती है डायबिटीज को मरीजों को सावधान रहने की जरूरत है। गर्मियों का मौसम आ चुका है और ऐसे में आज हम आपको पांच ऐसे फ्रूट के बारे में बताएंगे जिसका सेवन डायबिटीज के मरीज को बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए यह नुकसानदेह होते हैं। आईए जानते हैं इन सभी फ्रूट्स के बारे में पूरी डिटेल-

Diabetes में ज्यादा पका हुआ केला-

सबसे पहला पाल है ज्यादा पका हुआ केला। अगर आपको डायबिटीज है तो आपको मार्केट से कभी भी ज्यादा पका हुआ केला नहीं खरीदना चाहिए। जिसको काफी पौष्टिक भी माना जाता है। लेकिन अगर आपको डायबिटीज है तो यह आपके लिए हानिकारक हो सकता है। इसका ग्लिसमिक इंडेक्स बहुत ज्यादा यह 62 तक पहुंच सकता है जो की काफी ज्यादा है‌ यह डायबिटीज के मरीजों के लिए नुकसानदायक होता है। अगर आपको केला पसंद है और आप इसे खाना चाहते हैं लेकिन आप डायबिटीज के मरीज हैं तो ध्यान रखें कि आप काम पका हुआ अकेला ही खाएं। जिस पर काले रंग के धब्बे नाम और थोड़ा सा टाइट हो।

Diabetes में तरबूज़-

वाटरमेलन का ग्लिसमिक इंडेक्स हाई होता है 72 के आसपास होता है जो इसे डायबिटीज के लिए कम सूटेबल बनाता है। क्योंकि यह बहुत ही तेजी से हमारे ब्लड शुगर को बढ़ा सकता है। मगर इंटरेस्टिंग बात यह है कि वाटरमेलन में वॉटर कंटेंट भी बहुत ज्यादा होता है, इसमें ‌90% के करीब पानी ही होता है और इसके अंदर कार्बोहाइड्रेट कंटेंट इस हिसाब से कम होता है। इसकी वजह से इसका लोड कम हो जाता है। अगर आप डायबिटीज के मरीज और आप तरबूज खाना चाहते हैं तो कम से कम 100 से 125 ग्राम तक कटा हुआ तरबूज आप खा सकते हैं। लेकिन इससे ज्यादा यह आपके लिए नुकसानदेह हो सकता है। इससे ब्लड शुगर बहुत तेजी से बढ़ सकता है, तो अगर आप कंट्रोल के साथ एक टाइम में 100 से 125 ग्राम तक ही तरबूज खाते हैं तो यह आपके लिए बेहतर होगा।

अंगूर का ग्लिसमिक इंडेक्स ज्यादा (Diabetes)-

अब बात करते हैं दूसरे फल जो कि अंगूर है। 59 के आसपास इसका ग्लिसमिक इंडेक्स होता और इसे हाई कोर्स की वजह यह ब्लड शुगर लेवल डायबिटीज के लिए एक प्रॉब्लम की बात हो सकती है। अंगूर में नेचुरली ऑक्यूरिंग शुगर ज्यादा होती है, जैसे कि ग्लूकोज और फ्रुक्टोज जो की इजीली हमारे ब्लड स्ट्रीम के अंदर अब्जॉर्ब हो जाती है और जल्दी से ब्लड शुगर को बढ़ाने का काम करती है, कि इसको आप स्कम क्वांटिटी में खा सकते हैं।‌

एक और बात जो ध्यान देने वाली है आपको कभी भी अंगूर अकेला नहीं खाना चाहिए। इसको खाने के बाद अगर आप थोड़ा सा प्रोटीन रिच फूड जैसे के बादाम खा ले या अखरोट खा लें या फिर पीनट बटर ले लें या फिर मूंगफली खा लें। इससे होता है कि आपके अंदर जो शुगर के अब्जॉर्प्शन है वह स्लो हो जाता है और उसकी वजह से शुगर बढ़ने का खतरा कम हो जाता है तो अगर आप अंगूर को खाना ही चाहते हैं तो इस तरह से इन चीजों के साथ मिक्स करके खाइए।

पाइनएप्पल यानी कि अनानास-

एक और फ्रूट् डायबिटीज के पेशेंट को बिल्कुल भी नहीं खाना चाहिए. वह पाइनएप्पल यानी कि अनानास है। इसका ग्लिसमिक इंडेक्स काफी ज्यादा हाई होता है। यह इसे डायबीटिक डायट के लिए एक अनसूटेबल यानी अनफेवरेबल फ्रूट बनाता है। इसको आपको नहीं खाना चाहिए, जब आप पाइनएप्पल को खाते हैं तो इसके हाई इंडेक्स की वजह से ब्लड शुगर बहुत ही तेजी से बढ़ती है। इसकी वजह से डायबिटीज में खतरा पैदा हो सकता है। इसमें नेचुरल सूगर भी बहुत ज्यादा होता है। जिसकी वजह से शुगर बहुत तेजी से हमारे ब्लड स्ट्रीम के अंदर अब्जॉर्ब होती है और ब्लड शुगर को बढ़ाने का काम करती है। इसीलिए डायबिटीज के मरीजों को पाइनएप्पल कभी भी नहीं खाना चाहिए। (Diabetes)

ये भी पढ़ें- Tips for Healthy Life: स्वस्थ रहने के लिए रोज़ाना करें ये काम, जिंदगी..

आम यानी कि मैंगो-

आम यानी कि मैंगो का ग्लिसमिक इंडेक्स 51 से लेकर 55 के आसपास होता है, जो ज्यादा है। इन्हीं प्रॉपर्टी की वजह से अगर आपको डायबिटीज है तो आपको हमेशा बहुत ही सतर्क रहना चाहिए। क्योंकि इसकी वजह से आपका ब्लड शुगर बढ़ सकता है। आम के अंदर नेचुरली ऑक्यूरिंग शुगर भी काफी ज्यादा मात्रा में होता है, जो कि इसे बहुत ज्यादा मीठा बनाता है और इन हाई सूगर कंटेंट की वजह से ही डायबिटीज के पेशेंट के लिए इसको खाना काफी ज्यादा नुकसानदेह हो सकता है। इसे खाते समय बहुत सतर्क रहने की जरूरत होती है।

जब भी आप आम खाएं दोस्तों तो हमेशा ध्यान रखेगी कि अगर आपको डायबिटीज है तो हमेशा थोड़ी मात्रा में ही खाएं। एक टाइम में करीब 100 ग्राम तक ही कटा हुआ आम आप चाहे तो खा सकते हैं लेकिन इससे ज्यादा खाना आपके नुकसानदेह हो सकता है। आपको यह ध्यान रखना है कि अपनी ब्लड शुगर को हमेशा चेक करते रहना है। देखने के लिए क्या आपकी बॉडी आम खाने से कैसे रिएक्ट कर रही है। अगर 100 ग्राम खाने से भी शुगर लेवल बढ़ता है तो क्वांटिटी को और कम कर दीजिए या फिर इसको खाना बंद कर दीजिए।

ये भी पढ़ें- Healthy Mind: रोज़ सुबह सिर्फ 10 मिनट करें ये काम, दिमाग रहेगा फ्रेश और हेल्दी

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *