google-site-verification=YVHN2dtbiGoZ5Ooe2Ryl06rtke7l76iOlFsnK7NUB_U
Pakistan
Photo Source - Twitter

Pakistan: शनिवार को पश्चिमोत्तर पाकिस्तान में एक सैनिक चौकी पर हमला किया गया। आतंकवादियों ने विस्फोटों से भरी वाहन के जरिए हमला किया है। इस विस्फोट के कारण देश की सुरक्षा बलों के 5 सदस्य मारे गए। यह विस्फोटक हमली 6 हमलावरों के एक समूह द्वारा किया गया। इस समूह के बारे में खुलासा सेवा की मीडिया विंग ने एक बयान के जारी कर किया। हालांकि हमले के पीछे के उग्रवादीयों के बारे में जानकारी नहीं मिली है।

Pakistan चौकी में विस्फोट से भरे वाहन-

बयान में कहा गया कि आतंकवादियों ने चौकी में विस्फोट से भरे वाहन को घुसा दिया था। जिसके बाद से बहुत से आत्मघाती बम हमले हुए और इस हमले में एक इमारत का हिस्सा भी ढह गया। जिसके चलते पांच लोग शहीद हो गए, पाकिस्तान के खबर प्रांत में पाकिस्तान की सीमा से सटे हुए क्षेत्र वजीरिस्तान के निवासियों ने राइटर्स को यह बताया है कि हमला शुरू होने के समय एक विस्फोट से दरवाजे हिल गए और खिड़कियां भी टूट गई।

हाल ही के महीने में हमलों में वृद्धि-

पाकिस्तानी सरकार और सुरक्षा अधिकारियों का कहना है कि हाल ही के महीने में हमलों में वृद्धि हुई है। जिससे की बहुत सी जिम्मेदारी पाकिस्तान तालिबान ने ली है। अधिकारियों का यह भी आरोप है कि आतंकवादी इन हमलों को शुरू करने के लिए अफगान क्षेत्र का शोषण कर रहे हैं।

गोलीबारी ने नौ लोगों की जान ले ली-

इस स्थिति में पाकिस्तान और सत्तारुढी अफगान तालिबान के बीच संबंधों को तनावपूर्ण बना दिया है, जो कि अफगानिस्तान की आतंकवादियों के आधार के रूप में इस्तेमाल करने की अनुमति देने में किसी भी तरह की भागीदारी से इनकार करते हैं। पाकिस्तान में फरवरी में हुए राष्ट्रीय चुनाव कड़े सुरक्षा उपायों के तहत आयोजित किए गए थे। चुनाव के दिन ही विस्फोटों ग्रेनेड हमलों और गोलीबारी ने नौ लोगों की जान ले ली।

ये भी पढ़ें- Pakistan News: फेसबुक से यूट्यूब तक ये सोशल मीडिया एप्स होंगे बैन..

पाकिस्तानी तालिबान-

हालांकि समय-समय पर हमले जारी रहे हैं, जिससे चिंता बढ़ गई है, कि पाकिस्तानी तालिबान क्षेत्र में फिर से संगठित हो रहे हैं। पाकिस्तानी तालिबान एक अलग से समूह है, लेकिन अफगानी तालिबान के सहयोगी हैं। जिन्होंने 2021 में अफगानिस्तान में सत्ता पर कब्जा कर लिया था। क्योंकि संयुक्त राज्य अमेरिका और नाटो सैनिक अपनी वापसी के अंतरिम चरण में थे। तब से ही पाकिस्तानी तालिबान ने सुरक्षा बलों पर हमले तेज कर दिए हैं. खासकर के उत्तर पश्चिम की दिशा में।

ये भी पढ़ें- भारत ने किया Free Trade Agreemant पर हस्ताक्षर, ये चीज़ें हो जाएंगी सस्ती

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली और प्रधानमंत्री सहबाज शरीफ ने हमले की निंदा की है और शहीद हुए सैनिकों को श्रद्धांजलि दी।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *