google-site-verification=YVHN2dtbiGoZ5Ooe2Ryl06rtke7l76iOlFsnK7NUB_U
Free Trade Agreemant
Photo Source - Twitter

Free Trade Agreemant: भारत ने रविवार को व्यापार समझौते के तहत ईएफटीए ब्लॉक के साथ अपने व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर किया है। ईएफटीए ब्लॉक के साथ किए इस समझौते के मुताबिक, चॉकलेट, बिस्किट, कलाई घड़ियों और दीवार घड़ियों जैसे उच्च गुणवत्ता वाले उत्पादों पर सीमा शुल्क को खत्म कर दिया गया है। इस समझौते का मतलब यह है कि अब सभी ग्राहक इन उत्पादों को घरेलू कीमत पर खरीद पाएंगे। दो तरफा व्यापार को बढ़ावा देने के लिए रविवार को चार देशों और भारत के यूरोपीय समूह ईएफटीए ने निवेश और वस्तुओं सेवाओं के एक मुक्त व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर किया है।

भारत में 100 अरब डॉलर के निवेश-

ईएफटीए ने अगले 15 दिनों में इस समझौते के तहत भारत में 100 अरब डॉलर के निवेश की प्रतिबद्धता को दर्शाया है। इस यूरोप मुक्त व्यापार संघ में आइसलैंड, स्विट्जरलैंड और नॉर्वे सदस्ट के रुप में शामिल हैं। अलग-अलग देश में इन समझौते को मंजूरी देने की विस्तृत बीम की वजह से से लागू होने में 1 साल का समय लग सकता है। एक अधिकारी का कहना है कि स्विस घड़ियों और चॉकलेट जैसी चीजों पर शुल्क से रियायतें दे रहे हैं।

मल्टी नेशनल भारतीय एफएमसीजी बाजार-

स्विट्जरलैंड के कुछ प्रसिद्ध घड़ी ब्रांड रोलेक्स, कार्टियर और ओमेगा हैं। स्विट्जरलैंड का मल्टी नेशनल भारतीय एफएमसीजी बाजार की प्रमुख कंपनी और चॉकलेट निर्माता है। यह भारतीय एफएमसीजी खंड की तीसरी सबसे बड़ी सूचीबद्ध कंपनी है। आर्थिक शोध संस्थान ग्लोबल ट्रेड रिसर्च इनिशिएटिव की ओर से किए गए दस्तावेज के विश्लेषण के मुताबिक, भारत में समझौते के तहत स्विट्जरलैंड के आयातित कई उत्पादों के ऊपर शुल्क रियायतें हैं।

अजय श्रीवास्तव-

GTRI ( Georgia Tech Reasearch Institute) के संस्थापक अजय श्रीवास्तव का कहना है कि भारत ने 7 से 10 सालों में बहुत सी स्वीट सामानों पर शुल्क घटाने का फैसला किया है। इससे भारतीय ग्राहकों को कम कीमतों पर उच्च गुणवत्ता वाले सामान मिल सकेंगे। वाणिज्यिक व उद्योग मंत्री पीयूष गोयल का कहना है कि यह समझौता एक ऐतिहासिक समझौता है। इस समझौते को ऐतिहासिक करार देते हुए उन्होंने कहा कि यह भारत का ऐसे समूह के साथ पहला आधुनिक व्यापार है, जिसमें विकसित देश शामिल है।

ये भी पढ़ें- Ravi River पर बांध बनाकर भारत ने लगाई पाकिस्तान जाने वाले पानी..

वहीं इस समझौते को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ऐतिहासिक बताया, उन्होंने कहा कि डिजिटल व्यापार, बैंकिंग और वित्तीय सेवाओं तथा फर्म जैसे क्षेत्रों में नए मिशन को लेकर ईएफटीएस देश की वैश्विक स्तर पर अग्नि में स्थिति से सहयोग के नए द्वार खुलेंगे। मोदी ने कहा कि एक लिखित संदेश में कहा कि भारत ईएफटीएस व्यापार और आर्थिक भागीदारी समझौता पर हस्ताक्षर करने में शामिल वार्ताकारों और हस्ताक्षर कर्ताओं का हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं।

ये भी पढ़ें- Pakistan News: फेसबुक से यूट्यूब तक ये सोशल मीडिया एप्स होंगे बैन..

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *