google-site-verification=YVHN2dtbiGoZ5Ooe2Ryl06rtke7l76iOlFsnK7NUB_U
NASA
Photo Source - Google

NASA: पूरी दुनिया में जब भी चीन का नाम सामने आता है, तो लोगों लोगों के मन में शक पैदा होने लगता है। लेकिन इस बार अमेरिका की स्पेस एजेंसी नासा ने चीन को लेकर एक बहुत बड़ा दावा कर दिया है। जिसके बाद पूरी दुनिया में खलबली मच चुकी है। नासा के प्रमुख बिल नेल्सन का कहना है कि चीन अंतरिक्ष में गुप्त परियोजना बना रहा है। जिससे कि वह चंद्रमा पर अपना दबदबा बना सके। चीन हमेशा से ही यह कहता रहा कि अंतरिक्ष में उसकी गतिविधियां पूरी तरह से वैज्ञानिक है।

पुरी दुनिया हैरान (NASA)-

समाचार वेबसाइट न्यूज़18 के मुताबिक, उसका मकसद किसी भी तरह से अतिक्रमण करने का नहीं है, लेकिन बिल नेल्सन के दावे को सुनने के बाद पुरी दुनिया हैरान है। लेकिन एक रिपोर्ट के मुताबिक नासा के एक प्रमुख का कहना है कि चीन के इरादे कुछ ठीक नहीं हैं। हमें लगता है कि वह अंतरिक्ष में एक सैनिक कार्यक्रम चला रहे हैं। इसकी जानकारी वह छुपा रहे हैं। अंतरिक्ष के क्षेत्र में चीन ने अपनी असाधारण प्रगति की है। लेकिन उसके ज्यादातर कार्यक्रम हमेशा सीक्रेट ही रहे हैं, इसके बारे में वह दुनिया को कुछ नहीं बताते।

अस्थाई अड्डे बनाने की कोशिश (NASA)-

चीन और अमेरिका दोनों ही चंद्रमा पर अस्थाई अड्डे बनाने की कोशिश में लगे हुए हैं। इस साल मार्च में चीन के वैज्ञानिकों ने डिज्नीलैंड के आकार का चंद्रमा बेस बनाने का भी ऐलान किया था। जहां से धरती की गतिविधियां आसानी से देखी जा सकें। जिस तरह से चीन ने पहले कहा था कि दक्षिण चीन सागर में जिस तरह से चीन की गतिविधियां चल रही हैं, उनका मानना है उससे साबित होता है कि वह अंतरिक्ष में किस तरह का व्यवहार करेगा। अगर ऐसा हुआ तो यह साल 1967 आउटर स्पेस समझौते का उल्लंघन होगा।

ये भी पढ़ें- Poisonous Dart Frog: लाखों रुपए की कीमत पर बिकता है ये मेंढक, दुनिया भर में है इसकी डिमांड

चांद पर 2030 तक पहुंचने की रेस-

उनका कहना है कि चिंता यह है कि कहीं चांद पर पहुंचकर चीन यह ना कहे की यह हमारी जगह है और आप लोग इस क्षेत्र से बाहर रहें। जल्द ही हम वहां पहुंचाना चाहते हैं। हम सभी चांद पर 2030 तक पहुंचने की रेस में लगे हुए हैं। आर्टेमिस3 को सितंबर 2026 में लॉन्च किया जाएगा। चांद को लेकर हमेशा से ही अमेरिका संवेदनशील रहा है। वह चीन को अपना सबसे बड़ा प्रतिद्वंद्वी मानता है। नेल्सन का दावा है कि अमेरिका चीन से काफी आगे है। लेकिन उन्होंने कहा कि अगर चीन पहले से ही वहां पर अपना आधार बनाना शुरू कर रहा है, तो वह चांद के कुछ हिस्सों पर दावा कर सकता है।

ये भी पढ़ें- Viral News: मरे हुए आदमी को लेकर लोन लेने पहुंची महिला, लाश से साइन..

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *