google-site-verification=YVHN2dtbiGoZ5Ooe2Ryl06rtke7l76iOlFsnK7NUB_U
Mother of 13Doll's
Photo Source - Google

Mother of 13Doll’s: हाल ही में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है, जहां पर एक महिला एक नहीं बल्कि 13 डॉल्स को अपने बच्चों की तरह पालती है। इस महिला का नाम जेस एलिस बताया जा रहा है, वह रोज डॉल्स के डायपर भी बदलता हैं, उनको घुमाने भी ले जाती है और इस काम में उनका साथ उसका मंगेतर भी देता है। इस्ट लंदन के फ्लाइस्टो में रहने वाली वह महिला 27 साल की है और पेशे से एक HR बिजनेस पार्टनर है।

माता-पिता बनने के लिए तैयार

जानकारी के मुताबिक जेस एलिस ने कोविड महामारी के दौरान खुद को बहुत अकेला महसूस किया। इसके बाद उन्होंने ऑनलाइन कुछ डॉल्स को देखा, जो बिल्कुल इंसान के बच्चों की तरह दिखती हैं। 2020 में उन्होंने ऐसी कई गुड़ियों को इकट्ठा करना शुरू कर दिया। जेस का कहना है कि 13 बेबी डॉल्स की मां बनना उन्हें माता-पिता बनने के लिए तैयार कर रहा है।

6 लाख 18 हजार रुपए खर्च-

सबसे पहले जेस ने रेबेका नाम की गुड़िया को खरीदा था, वह एक महीने की डॉल थी। यह उसने £250 में खरीदी थी। उसके बाद जेस ने कुकी, ब्रुकलिन, जैन, लिली, एनालिसिस, समेत दो और बेवी डॉल्स को खरीदा। उसने इन डॉल्स को खरीदने में लगभग अपनी 6 लाख 18 हजार रुपए खर्च कर दिए। इन गुड़ियाओं में से उनकी सबसे महंगी डॉल खुशी है जिसे उन्होंने £1700 में खरीदा है।

मंगेतर एक पेस्ट्री शेफ-

उनका कहना है कि उनके मंगेतर जो एक पेस्ट्री शेफ है, उसने इसमें उनका साथ दिया और यहां तक कि वह उनकी बेबी डॉल्स को कपड़े पहने और उनके डायपर बदलने में भी उनकी मदद करता है। वह कहते हैं कि मुझे हमेशा से बच्चे पसंद हैं, एक बच्चे को गोद में लेने से बहुत शांति मिलती है। उनका कहना है कि उनके पिता सोचते हैं कि यह बहुत अजीब है। लेकिन उन्हें मुझ पर गर्व है कि मैंने कुछ ऐसा किया जिससे मुझे मजा आता है।

ये भी पढ़ें- Pakistani जासूस की पत्नी ने न्यायालय से मांगी भारत में रहने की अनुमति

£2000 की कमाई-

जेस अपने जुनून को पार्ट टाइम काम के रूप में भी शुरू कर दिया है। उन्होंने इस तरह की डॉल्स को बनाना और फिर उनको ऑनलाइन बेचना स्टार्ट कर दिया। जेस ने कहा एक गुड़िया बनाने में लगभग 3 हफ्ते का समय लगता है। 4 महीने पहले यह काम शुरू करने के बाद उन्होंने £2000 की कमाई की है।

ये भी पढ़ें- Pakistan में बढ़ते बिजली बिलों के चलते विरोध प्रदर्शन, सड़कों पर उतरे लोग

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *