google-site-verification=YVHN2dtbiGoZ5Ooe2Ryl06rtke7l76iOlFsnK7NUB_U
Tripura
Photo Source - Twitter

Tripura: शुक्रवार को त्रिपुरा में लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण के मतदान हो रहे थे, एक मतदान केंद्र पर एक चुनाव अधिकारी पर हमला करने के आरोप में भाजपा के नेता को गिरफ्तार किया गया है। यह कार्यवाही तब हुई जब बीजेपी के उत्तरी त्रिपुरा जिले के अध्यक्ष को एक वीडियो में एक चुनाव अधिकारी को थप्पड़ मारते हुए देखा गया। यह वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में बहुत से लोग विधानसभा क्षेत्र के मतदान केंद्र संख्या 22 पर अधिकारी पर हमला करते हुए देखा जा सकता है। जिनकी अभी पहचान नहीं की गई है।

Tripura पुलिस स्टेशन के प्रभारी का कहना है-

पुलिस स्टेशन के प्रभारी का कहना है कि सेक्टर अधिकारियो, पर्यवेक्षकों की रिपोर्ट और वायरल वीडियो के आधार पर जांच की गई। उन्होंने कहा कि लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा 353, 332, 131 के साथ ही आईपीसी की धारा 34 के तहत यह मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि कानून अपना काम करेगा और पुलिस ने पहले ही वायरल वीडियो में देख लिया है, जिससे नेता काजल दास को स्पष्ट पहचान की गई।

Tripura भाजपा नेता को जमानत-

हालांकि जब पुलिस ने काजल दास को स्थानीय अदालत में पेश किया, तो उसने भाजपा नेता को जमानत दे दी और मामले की जांच के लिए एक जांच समिति का गठन किया गया था। एक अलग घटनाक्रम में उत्तरी त्रिपुरा जिला चुनाव अधिकारी शुक्रवार को मतदान के दौरान विधानसभा क्षेत्र में एक बूथ अधिकारी के साथ भाजपा नेता को दुर्व्यवहार करने की वजह से एक नोटिस भेज कर कारण बताने के लिए कहा।

ये भी पढ़ें- Najafgrah Spiderman: स्पाइडर-मैन और स्पाइडर-वुमन कर थे सड़क पर स्टंट, तभी..

पूरा मामला-

अधिकारियों के मुताबिक, शाम करीब 5:00 बजे बूथ पर काफी संख्या में मतदाता इधर-उधर खड़े हो रहे थे। जिसके चलते चुनाव अधिकारी ने मतदाता से कतार में खड़े होने और टोकन को एकत्रित करने के लिए कहा जिससे 5:00 बजे तक वोटिंग हो सके और तब तक बीजेपी के त्रिपुरा जिला अध्यक्ष वहां पहुंच गए। अपने समर्थन के साथ घटनास्थल पर पहुंचे, अधिकारी को बूथ से बाहर निकालने के लिए मजबूर कर दिया। फिर उसके साथ मारपीट की, उन्होंने कहा की प्राधिकारियों ने आरोपियों को एक नोटिस भी जारी किया है, इस मामले की जांच की जा रही है।

ये भी पढ़ें- Viral Video: फ्री में खाना लेने पर नौकरी से धोना पड़ा हाथ, वीडियो देख हैरान..

इसके साथ ही कुच समय पहले एक और पोलिंग बूथ पर एक अधिकारी के साथ मारपीट की गई थी। जिसके बाद कोर्ट द्वारा उस नेता को कारण बताओ नोटिस भेजा गया। हालंकि नेता को गिरफ्तार नहीं किया गया।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *