google-site-verification=YVHN2dtbiGoZ5Ooe2Ryl06rtke7l76iOlFsnK7NUB_U
Mind Detox
Photo Source - Freepik

Mind Detox: बहुत बार ऐसा होता है जब हमारे दिमाग पर हमारा कंट्रोल नहीं रहता और हमारा दिमाग नकारात्मक और गलत चीजों के बारे में सोचने लगता है। यह नकारात्मक विचार आपके लिए और ना ही दूसरों के लिए सही होते हैं। लेकिन आखिर आप इस पर कंट्रोल कैसे कर सकते हैं। क्योंकि इस पर कंट्रोल पाना बहुत मुश्किल है। लेकिन नामुमकिन नहीं, आज हम आपको कुछ ऐसे ही टिप्स बताएंगे जिनकी मदद से आप अपनी दिनचर्या को बदलकर अपनी इस नकारात्मक सोच को सकारात्मक में बदल सकते हैं, आईए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं-

Mind Detox-

वैसे तो मेंटल हेल्थ को सही से पहचान पाना मुश्किल होता है। क्योंकि अगर कोई व्यक्ति खुद के विचारों और बातों को बदलते हुए नोटिस करता है, तो ज्यादा समस्या बढ़ने से पहले ही उसका उपचार हो सकता है। इसके लिए आप मेंटल डिटॉक्स ले सकते हैं। अब मेंटल डिटॉक्स क्या है। मेंटल डिटॉक्स का मतलब अपने दिमाग को नकारात्मक विचारों और भावनाओं से मुक्त करता है।

लक्षण (Mind Detox)-

यह एक ऐसी प्रक्रिया होती है जो कि आपको चिंता और तनाव राहत दिलाने में आपकी मदद करती है। अब आपको कैसे पता चलेगा कि आपको डिटॉक्स की जरूरत है या नहीं। इसके लिए कुछ लक्षण होते हैं, जिसमें बार-बार नकारात्मक विचार आना भावनाओं पर कंट्रोल ना रख पाना, हर समय थकान महसूस होना, लोगों से जुड़ने में परेशानी होना, यह सभी लक्षण होते हैं, जब आपके माइंड डिटॉक्स की जरूरत होती है।

Mind Detox करना-

अगर आप अपने माइंड को डिटॉक्स करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको कुछ चीजों को अपने जीवन में अपनाना होगा, इसके लिए आप योग का सहारा ले सकते हैं। इसके साथ भी टहलने ध्यान करना मन को शांत करने और नकारात्मक विचार को दूर करने में मदद कर सकता है।

हॉबी-

इसके अलावा हर व्यक्ति की अपनी खुद की एक हॉबी होती है, यह कुछ भी हो सकती है। ऐसे में जब आपके दिमाग में कोई नकारात्मक विचार आने लगे तो उन पर कामों को करें जो आपको करना पसंद है। जिसे करके आपको रिफ्रेश महसूस होता हो।

पर्याप्त नींद-

सबसे पहला काम किसी भी इंसान को पर्याप्त नींद लेनी चाहिए, नींद की कमी की वजह से दिमाग में चिंता और तनाव भरा जाता है। जिसकी वजह से दिमाग शांत होता है और नकारात्मकता आपके दिमाग में घर कर जाती है। इसीलिए किसी को भी हमेशा 7 से 9 घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए। इससे दिमाग बेहतर तरीके से काम करता है और आपको सकारात्मक सोचने में भी मदद मिलती है।

हेल्दी खाना-

इसके अलावा आपको हमेशा हेल्दी खाना खाना चाहिए, यह न सिर्फ आपको शारीरिक रूप से ठीक करता है, बल्कि यह आपके मानसिक स्वास्थ्य को भी सही रखने में आपकी मदद कर सकता है। इसीलिए जब भी आपके दिमाग में कोई परेशानी आए, तो आप इससे छुटकारा पाने के लिए अपने खाने पीने में सुधार कर सकते हैं। आपको हमेशा हेल्दी आहार ही खाना चाहिए।

ये भी पढ़ें- Ayurveda: हाथ से या चम्मच से कैसे भोजन करना है अच्छा, जानें साइंस क्या..

व्यक्त करना बहुत जरूरी-

इसके अलावा किसी भी तरह के नकारात्मक विचार को अपने दिमाग से निकालने के लिए उसे व्यक्त करना बहुत जरूरी होता है। ऐसे में आप अपनी भावनाओं को अपने किसी गरीबों के साथ शेयर कर सकते हैं या फिर इसे किसी डायरी में भी लिख सकते हैं। इसके अलावा योग के जरिए आप मन को डिटॉक्स कर सकते हैं। योग मन को डिटॉक्स करने का सबसे अच्छा और कारगर तरीका होता है। नियमित इसका अभ्यास आपके दिमाग को शांत और तनाव कम करने में मदद करता है।

ये भी पढ़ें- Drinking Water: खाने बाद, खाने से पहले या भोजन के दौरान कब पिएं पानी..

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *