google-site-verification=YVHN2dtbiGoZ5Ooe2Ryl06rtke7l76iOlFsnK7NUB_U
Israel Hamas War
Photo Source - Twitter

Israel Hamas War: हमास द्वारा इजराइल के 50 महिलाओं और बंधक बच्चों की रिहाई के बदले इजरायल की सरकार ने डेढ़ सौ फिलिस्तीनी महिला और नाबालिक कैदियों की रिहाई के साथ ही चार दिनों के संघर्ष के विराम को मंजूरी दे दी है। वहीं इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेत्याहू ने कहा कि इसराइल सरकार ने गाजा में बंधकों के रूप में रखी गई 50 महिलाओं और बच्चों को मुक्त करने के लिए फिलिस्तीनी आतंकवादियों के साथ समझौते करने का समर्थन किया है। इसके बदले में इसराइल सुरक्षा संबंधी अपराधों के लिए अपने जिलों में बंद लगभग डेढ़ सौ फिलिस्तीन महिलाओं और नाबालिकों को रिहा कर देगा। उन लोगों को रिहा किया जाएगा, जिन पर सीधे तौर पर किसी भी घातक आतंकी हमले में शामिल होने का आरोप नहीं होगा।

चार दिनों के अंदर 50 बंधकों को रिहा-

इस समझौते में व्यापक रुप से उन 96 घंटे के दौरान लड़ाई को रोकने के बदले में पहले चार दिनों के अंदर 50 बंधकों को रिहा किया जाएगा। हमास में लगभग 13 माता और 40 बच्चों को बंदी बनाया है। मंजूर किए गए सौदे में 8 माताएं, 12 अन्य महिलाएं और 30 बच्चों की रिहाई शामिल है। उन बंधकों को एक साथ नहीं बल्कि छोटे-छोटे समूह में दिया जाएगा। अगर लड़ाई को अगले 4 दिनों तक रोक दिया जाता है, तो गाज़ा में रखे गए बाकी 30 बंधकों की रिहाई की संभावना है। इनमें सभी लोग जीवित है और उनके पास इजरायल की नागरिकता है।

कतर समझौते में मध्य्त-

कतर के अधिकारी इसराइल और बमास के बीच समझौते में मध्य्त के रुप में काम कर रहे हैं। पीएम नेत्यहू का कहना है कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने समझौते तक पहुंचने में मदद की। इजराइल की पिछले डेढ़ महीने से गाज़ा के साथ जंग जारी है। यह पहला युद्ध विराम है। इस युद्ध विराम के कारण लोगों तक मानवता सहायता भी पहुंच सकेगी। हालांकि यह साफ नहीं है कि युद्ध विराम कब प्रभावी होगा। उम्मीद है कि बंधकों को गुरुवार से मुक्त किया जाएगा। इजरायल की सरकार का कहना है कि रिहा किए गए हर बंधकों के लिए शांति को एक अतिरिक्त दिन के लिए बढ़ा दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें- Israel Hamas War: इसराइल हमास जंग में कितने लोगों की हुई मौत

हमले का निशाना-

7 अक्टूबर को इसराइल पर हमला करने के बाद हमास ने लगभग 240 लोगों को बंधक बनाया था। जिसके बाद मुख्य रूप से वह लोग शामिल थे, जो एक संगीत समारोह में शामिल हुए थे। हमास ने उनको अपने आतंकी हमले का निशाना बनाया था। इजरायल की सरकार ने कहा कि इसराइली नागरिकों के अलावा आधे से ज्यादा बंधकों के पास थाईलैंड, अर्जेंटीना, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी और पुर्तगाल सहित लगभग 40 देश की विदेशी और दोहरी नागरिकता थी।

ये भी पढ़ें- Israel Hamas War: गाज़ा में हॉस्पिटल के नीचे मिला आतंकी अड्डा

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *