google-site-verification=YVHN2dtbiGoZ5Ooe2Ryl06rtke7l76iOlFsnK7NUB_U
Pune Univecity Ramlila Act
Photo Source - Twitter

Pune Univesity Ramlila Act: हाल ही में सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें नाटक के प्रदर्शन के दौरान सीता माता की भूमिका निभा रहे अभिनेता को धूमपान करते हुए दिखाया गया है। इस नाटक में भगवान लक्ष्मण की भूमिका निभा रहे हैं अभिनेता को मंच पर गालियां देते हुए दिखाया गया है। इस नाटक ने पुणे विश्वविद्यालय के छात्रों के एक को नाराज कर दिया। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की छात्र शाखा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने अन्य छात्रों के एक समूह के साथ नाटक की निंदा की है।

सेंटर फॉर परफॉर्मिंग आर्ट्स-

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, एबीवीपी पदाधिकारी ने यह दावा किया है कि इस नाटक में हिंदू छात्रों की भावनाओं को आहत किया है। यह नाटक पूरे विश्वविद्यालय के ललित कला केंद्र का बताया जा रहा है। जिसका औपचारिक नाम सेंटर फॉर परफॉर्मिंग आर्ट्स है। पीटीआई की रिपोर्ट में यह कहा गया कि जिस नाटक का मंचन किया जा रहा है, वह रामलीला का मंचन करने वाले अभिनेता के मंच के पीछे के मजाक पर आधारित है। यानी कि बिहाइंड द सीन है, जो भारतीय रंग मंच की एक शैली है। जिसमें महाकाव्य रामायण के एपिसोड का अभिनय शामिल किया गया है।

विश्वविद्यालय इकाई के प्रमुख शिव बरोल-

एबीवीपी विश्वविद्यालय इकाई के प्रमुख शिव बरोल ने यह दावा किया है कि सीता को धूम्रपान करते हुए दिखाया गया था और लक्ष्मण को अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल करते हुए दिखाया गया। बरोल का कहना है कि हमने इस तरह के कृत्यों पर आपत्ति जताई और उस नाटक को रोक दिया। जिसे रामलीला कहा गया था। यह हिंदू भावनाओं को आहत करता है। इसके बाद ललित कला केंद्र के छात्रों ने हमारे साथ धक्का मुक्की करने की कोशिश की। हमने पुलिस से संपर्क किया और मामला दर्ज करने की मांग की है।

ये भी पढ़ें- Desi Jugad: ठंड से बचने के लिए शख्स ने किया देसी जुगाड़, देख लोग हैरान

इंस्पेक्टर अंकुश चिंतामणि –

वहीं पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर अंकुश चिंतामणि का कहना है कि छात्रों और एबीवीपी सदस्यों ने के बीच टकराव और गाली गलौज हुई है। चिंतन का कहना है कि हमने दोनों समूह को अपने बयान दर्ज करने के लिए बुलाया है। यह विवाद उस फिल्म के पोस्टर के 2 साल बाद सामने आया, जिसमें देवी काली को धूम्रपान करते हुए दिखाया गया था। जिससे कि देश के बहुत से हिस्सों में आक्रोश फैला था। यह पोस्ट लिनामणि द्वारा निर्देशित एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म का था। पोस्ट में एक महिला को देवी काली के रुप में दिखाया गया था, वह सिगरेट पीती हुई नजर आ रही थी। त्रिशूल और दरांती के अपने सब सामान के साथ देवी की भूमिका निभाने वाले अभिनेत्री को समुदाय के गौरव ध्वज को लहराते हुए दिखाया गया है। ‌

ये भी पढ़ें- Bihar: लोगों ने चलती ट्रेन में दी चोर को सज़ा, खिड़की से लटकाकर…

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *