google-site-verification=YVHN2dtbiGoZ5Ooe2Ryl06rtke7l76iOlFsnK7NUB_U
Toe Ring Benefits
Photo Source - Google

Toe Ring Benefits: विवाहित स्त्री का श्रृंगार सनातन धर्म में काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। श्रृंगार में मंगलसूत्र, चूड़ी, बिंदी, मांग टीका, झुमके और बिछिया जैसी चीज़ें शामिल होती हैं। सनातन धर्म में स्त्री का हर सिंगार अलग और विशेष महत्व रखता है। इसके साथ ही कई चीजों के वैज्ञानिक कारण भी होते हैं। उन्हीं में से एक विवाहित स्त्री के श्रृंगार में बिछिया शामिल है। सनातन धर्म में शादीशुदा स्त्री के पैरों मे बिछिया पहनने का भी सांइटिफिक कारण है। चलिए आज हम आपको बताते हैं इसके पीछे का वैज्ञानिक कारण क्या है।

बिछिया पहनने का वैज्ञानिक कारण (Toe Ring Benefits)-

हिंदू धर्म में बिछिया पहनने का धार्मिक महत्व बताया गया है, इसके अलावा इसका वैज्ञानिक कारण भी होता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि विवाहित महिलाएं अपने पैरों की तीन उंगलियां में बिछिया पहनती हैं। पैरों की तीन उंगलियां की नसें महिलाओं के गर्भाशय और दिल से संबंधित होती है। ऐसे में पैरों में बिछिया पहनने से प्रजनन क्षमता में मजबूती आती है। साथ ही गर्भधारण करने में भी कोई समस्या नहीं होती।

सोलह सिंगार का हिस्सा-

सनातन धर्म में बिछिया को सोलह सिंगार का ही हिस्सा माना जाता है। धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक, बिछिया पहनने से विवाहित स्त्री के जीवन में सुख और शांति बनी रहती है। ऐसा कहा जाता है कि स्त्री को पैरों की दूसरी और तीसरी उंगली में बिछिया पहननी चाहिए। इससे पति और पत्नी के बीच अच्छे संबंध रहते हैं। साथ ही बिछिया पहनने से धन की देवी कही जाने वाली मां लक्ष्मी भी प्रसन्न होती हैं।

ये भी पढ़ें- Dream Interpretation: सपने में दिखी ये चीज़ें देती है किस्मत खुलने का संकेत

नकारात्मक उर्जा भी दूर-

इसके अलावा इसे पहनने से नकारात्मक उर्जा भी दूर हो जाती है, ऐसा कहा जाता है की मां दुर्गा की पूजा के समय उन्हें बिछिया पहनाई जाती है। यह शुभ चीजों का प्रतीक माना जाता है, वहीं सनातन धर्म में कुंवारी कन्याओं को बिछिया पहनने को अच्छा नहीं माना जाता। इसके अलावा बिछिया का संबंध रामायण में भी बताया गया है। ऐसा कहा जाता है कि जब रावण माता सीता का अपहरण कर रहा था। तब मां सीता ने अपनी बिछिया मार्ग में ही फेंक दी थी, उन्होंने ऐसा इस वजह से किया था। जिससे भगवान राम उन तक पहुंच पाएं।

ये भी पढ़ें- Akshaya Tritiya 2024: जानें मां लक्ष्मी का आशीर्वाद पाने का आसान रास्ता, करें ये विशेष उपाय

इसके साथ ही बिछिया सुहागन महिलाओं के सिंगार को पूरा करते हैं। अगर आपको यह लेख पसंद आया है तो इसे अपने परिजनों के साथ भी शेयर करें। अगर आपको किसी अन्य चीज़ से जुड़ी जानकारी चाहिए तो आप हमें कमेंट में बता सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *