google-site-verification=YVHN2dtbiGoZ5Ooe2Ryl06rtke7l76iOlFsnK7NUB_U
CM Manohar Lal Khattar
Photo Source - Twitter

CM Manohar Lal Khattar: मंगलवार की सुबह हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने राज्यपाल भंडारू दत्तात्रेय से मुलाकात के बाद इस्तीफा दे दिया। श्री खट्टर का इस्तीफे के तुरंत बाद उनकी पूरी कैबिनेट ने इस्तीफा दे दिया। लोकसभा चुनाव के लिए सीट बंटवारे को लेकर सत्तारुढी बीजेपी जेजेपी गठबंधन में विभाजन की अटकलें के बीच आया है। बीजेपी और दुष्यंत चौटाला की जेजेपी दोनों ने कहा कि वह आने वाले चुनाव में अपने दम पर लड़ेंगे। साल 2019 में बीजेपी ने राज्य की सभी 10 सीटों पर जीत हासिल की थी। श्री चौटाला की पार्टी जो अभी अभी बनी थी, अपने सभी सीटों पर मुकाबला हार गई। लेकिन 4.9% के विश्वसनीय वोट शेयर के साथ समाप्त बीजेपी ने इस बार दो लोकसभा सीटें मांगी थी।

देश भर में 370 सीटों का लक्ष्य-

लेकिन बीजेपी जिसने अपने दम पर देश भर में 370 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा था। केवल एक ही सीट छोड़ेंगी। 2019 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने एक सीट जीती थी, जो कि भाजपा के लिए काफी महत्वपूर्ण थी। 40 सीटों के साथ 90 सदस्य सदन में बहुमत से 6 सीट दूर सरकार बनाने के लिए चुनाव के बाद का समझौता किया गया। मनोहर लाल खट्टर का इस्तीफा इस बात के बीच भी आया है कि वह लोकसभा चुनाव में करनाल सीट से पदार्पण कर सकते हैं, जो वर्तमान में भाजपा के संजय भाटिया के पास है।

हरियाणा विधानसभा-

सूत्रों के मुताबिक, श्री भाटिया विपरीत दिशा में स्विच कर सकते हैं। मुख्यमंत्री बनने के लिए संसद से हरियाणा विधानसभा तक जा सकते हैं। हालांकि ऐसी भी चर्चा है कि खट्टर इस बार निर्दलीय विधायकों द्वारा समर्थित सरकार के मुखिया के रूप में मुख्यमंत्री के रूप में वापसी कर सकते हैं। इस सरकार में दो उपमुख्यमंत्री हो सकते हैं। दो अलग-अलग समुदायों से, क्योंकि बीजेपी लोकसभा चुनाव से पहले अलग-अलग जातीय या समुदायों के प्रतिनिधित्व को भी ध्यान में रखना चाहती है।

ये भी पढ़ें- गोवा के बाद इस शहर में Gobi Manchurian हुआ Ban, कॉटन कैंडी पर..

पिछले साल नवंबर में राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव जीतने के बाद पार्टी ने इसी तरह के कदम उठाए। सूत्रों के मुताबिक, इन नई बीजेपी सरकार को जेजेपी के पांच विधायक भी मजबूत कर सकते हैं। जिनके पाला बदलने की संभावना है। यह पांच है जोगीराम सिहाग, रामकुमार गौतम, ईश्वर सिंह, देवेंद्र बबली और रामनिवास सूत्रों ने कहा कि यह पांच अलग-अलग समूह बनाकर भाजपा में शामिल हो सकते हैं।

ऐसा कहा जा रहा है कि पार्टी मनोहर लाल खट्टर को करनाल से लोकसभा के लिए भेज सकती है।

ये भी पढ़ें- अभिनेता थलपति विजय ने किया CAA का विरोध, कहा तमिलनाडु में लागू नहीं..

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *