google-site-verification=YVHN2dtbiGoZ5Ooe2Ryl06rtke7l76iOlFsnK7NUB_U
AC in Car
Photo Source - Freepik

AC in Car: बहुत बार लोगों को कार में एसी को लेकर हमेशा कंफ्यूजन रहता है, जिसमें से सबसे बड़ा कंफ्यूजन यह है कि क्या एसी चलाने से कार की माइलेज पर असर पड़ता है और अगर यह असर पड़ेगा, तो इसकी माइलेज कितनी कम होगी, आज हम आपकी इस कंफ्यूजन को दूर करने वाले हैं। आईए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं-

बहुत सी थ्योरी-

कार की माइलेज पर एसी के असर को लेकर बहुत सी थ्योरी लोग देते हैं, कुछ लोगों को कहना है कि इससे ज्यादा फर्क नहीं होता। वहीं कुछ लोग डर के मारे एसी ही नहीं चलते, जिससे कंफ्यूजन क्रिएट हो जाता है। अगर आपको भी हमेशा इस बात का डर रहता है, तो आपको कुछ बात जान लेनी चाहिए कि एसी का माइलेज पर असर जरूर पड़ता है। लेकिन यह कुछ खास ज्यादा नहीं होता। (AC in Car)

1000 सीसी वाली कार-

दरअसल कार चलाते हुए अगर आप एसी चलाते हैं तो माइलेज पर इसका 5 से 7% तक असर पड़ता है यानी कि करीब 7% तक की माइलेज कम हो सकती है और अगर आपके पास 1000 सीसी वाली कार है तो आपकी कार में एसी को 1 घंटे में सिर्फ 0.6 लीटर पेट्रोल खर्च होता है। इसके अलावा एक और कन्फ्यूजन यह होती है कि फुल स्पीड में एसी चलाने से तेल ज्यादा खर्च हो जाता है। जबकि ऐसा कुछ भी नहीं, क्योंकि इससे उतना ही तेल लगेगा, जितना कम स्पीड पर एसी चलाने से खर्च हो रहा होगा।

ये भी पढ़ें- Air Taxi की सेवा Delhi NCR में जल्द होगी शुरु, यहां जाने पूरी डिटेल

कितना कम होता है माइलेज-

उदाहरण के लिए जानते हैं कि अगर आपकी कार 15 किलोमीटर प्रति घंटे का माइलेज दे रही है, तो एसी चलाने पर इसका माइलेज 13kmpl तक पहुंच सकता है। लेकिन आप खड़ी हुई कार में बहु देर तक एसी चलाएंगे तो इससे आपका पेट्रोल ज्यादा खत्म होता है। अगर आप 1000 सीसी के इंजन की खड़ी कार में 1 घंटे तक ऐसी चलाते हैं तो तकरीबन 1 लीटर पेट्रोल खर्च हो जाता है। वहीं अगर आप गाड़ी स्टार्ट करके ऐसी चलाते हैं तो यह 1.5 लीटर के करीब खर्च होता है। ठीक तौर पर गाड़ी के माइलेज पर फर्क गाड़ी चलाने के तरीके से असर पड़ता है और गाड़ी के इंजन से पड़ता है।

ये भी पढ़ें- Toyota Fortuner का लीडर एडिशन हुआ लॉन्च, यहां जाने डिटेल

ध्यान देने वाली बात यह है कि गर्मियों का मौसम शुरु हो चुका है और गर्मियों के मौसम में कार में एसी चलाए बिना बैठना मुश्किल हो जाता है। लेकिन माइलेज कम होने के डर से लोग इसे चलाने में हिचकिचाते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *