google-site-verification=YVHN2dtbiGoZ5Ooe2Ryl06rtke7l76iOlFsnK7NUB_U
Dress Code
Photo Source - Twitter

Dress Code: मध्य प्रदेश से हैरान करने वाला मामला सामने आया है। मध्य प्रदेश के दमोह में सरकारी दफ्तर में कैजुअल ड्रेस जैसे शर्ट और जींस को पहनकर आने पर रोक लगा दी गई है। यहां सरकारी दफ्तर में काम करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों को शर्ट पहनने पर बैन लगाया गया है। दमोह के कलेक्टर द्वारा यह फैसला लिया गया है। कलेक्टर और अधिकारी कर्मचारियों को फॉर्मल ड्रेस पहनने की अपील की गई है।

सख्त कार्यवाही (Dress Code)-

अगर कोई इसका पालन नहीं करता है तो उस पर सख्त कार्यवाही की भी बात कही गई है। कैजुअल कपड़े यानी की जींस, टीशर्ट सरकारी दफ्तरों में पहनने पर रोक लगाने के आदेश के बाद सभी अधिकारियों के बीच खलबली मच चुकी है। सरकारी दफ्तर के कलेक्टर जिनका नाम सुधीर कुमार है ने जींस और टीशर्ट पहनकर कार्यालय आने वाले लोगों पर कार्यवाही करने की बात कही है। इसके साथ ही दफ्तर में जींस टीशर्ट पहनकर आने पर बैन लगा दिया है।

Dress Code के आदेश जारी-

उनका कहना है कि यह सरकारी दफ्तर है और सभी सरकारी कर्मचारी सरकार की ओर से काम करते हैं। इसीलिए सभी कर्मचारियों और अधिकारियों के लिए फॉर्मल ड्रेस के आदेश जारी कर दिए हैं। अगर इस दौरान कोई भी अधिकारी या फिर कर्मचारी फॉर्म एड्रेस या कैजुअल कपड़ों में ऑफिस आता है, तो इसे अनुशासनहीनता माना जाएगा, इसके खिलाफ सख्त कार्यवाही भी की जाएगी।

प्रशासन की छवि बेहतर-

कलेक्टर का कहना है कि सरकारी सेक्टर में काम करने वाले कर्मचारी और आधिकारिक सरकार का प्रतिनिधित्व करते हैं, जो कि आम जनता के लिए काम करते हैं। इसीलिए कर्मचारी और अधिकारी दोनों को ही अपने पहनावे में सादगी अपनानी चाहिए। उनका कहना है कि सिविल सेवा के नियमों में बदलाव उल्लेख है की शालीनता के साथ इस प्रकार के कपड़े आम लोगों में प्रशासन की छवि को बेहतर बनाने का काम करते हैं।

ये भी पढ़ें- Kanpur: बेटी के तलाक के बाद पिता ने ढ़ोल बजाकर किया पिता ने स्वागत

रंग भी ज्यादा भड़कीला नहीं होना चाहिए-

दमोह जिले के सरकारी दफ्तर के अधिकारी ने बताया कि लोगों को फॉर्मल शर्ट और पैंट पहन के आने होंगे इसके साथ ही उनके कपड़ों का रंग भी ज्यादा भड़कीला नहीं होना चाहिए। इसके अलावा कलेक्टर के आदेश के बाद सरकारी अधिकारी और कर्मचारी प्रभावित हो चुके हैं। उन्हें हर दिन फॉर्मल कपड़े पहन कर आना होगा। जिन लोगों को अच्छे-अच्छे फैंसी कपड़े पहनने का शौक है, उनके लिए यह एक मुसीबत बन सकती है। हालांकि कलेक्टर का मानना है कि सरकारी दफ्तर में काम करने वाले कर्मचारियों को सादगी के साथ रहना चाहिए।

ये भी पढ़ें- Tripura में चुनाव अधिकारी को BJP नेता ने मारा थप्पड़, वीडियो हो रहा..

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *